Reasoning bank po topics

बैंकिंग परीक्षा में पूछी जाने वाली रीजनिंग के कुछ महत्त्वपूर्ण टॉपिक जानें

Spread the love

Reasoning bank po topics

Reasoning bank po topics

बैंकिंग परीक्षा में हर दिन छात्रों की भीड़ बढ़ती जा रही है। इसमें सीटों के अनुसार, छात्रों की संख्या काफी अधिक होती जा रही है। इस परीक्षा में सबसे कठिन विषय रीजनिंग को माना जाता है। बैंकिंग परीक्षा में लगातार रीजनिंग के पैटर्न बदल रहे हैं। ऐसे में, छात्रों की समस्या बढ़ती जा रही है। आज हम आपको रीजनिंग के कुछ महत्वपूर्ण टॉपिक से अवगत कराने वाले हैं।

पहेलियाँ और बैठने की व्यवस्था

यह रीजनिंग का सबसे महत्वपूर्ण टॉपिक है। इस टॉपिक से अपेक्षित प्रश्नों की संख्या 20-23 है। अब पूछे जाने वाली पहेलियां बहुत लंबी, जटिल और गणना आधारित होती हैं। वे आम तौर पर बैठने की व्यवस्था (रैखिक, परिपत्र, त्रिभुज, आयताकार और कभी-कभी हेक्सागोनल भी), फर्श, टैबुलर फॉर्म, ब्लड रिलेशंस आदि पर आधारित होते हैं। बैठकों की व्यवस्था और रक्त संबंधों का एक मिश्रण भी अक्सर परीक्षाओं में पुछे जा रहे हैं। इसका ज्यादा से ज्यादा अभ्यास करें। पहेली से निपटने का यह एकमात्र तरीका है।

सिलोलिज्म

इस विषय पर अपेक्षित प्रश्नों की संख्या 5-6 होती है। इसमें प्रश्न सामान्य पुराने पैटर्न के आधार पर और साथ ही रिवर्स सिलोलिज्म की नई प्रतिमान पर आधारित हो सकते हैं। इसमें प्रश्न में निष्कर्ष दिया जाता है, और आपको उस विशेष निष्कर्ष के लिए सही वक्तव्य चुनना होता है। यह सबसे आसान और स्कोरिंग टॉपिक में से एक है, इसलिए इसे अच्छी तरह से तैयार करें। आपको इस अनुभाग में 5 अंक बहुत आसानी से मिल सकते हैं।

असमानता

आईबीपीएस पीओ प्रीमिम्स के लिए दूसरी सबसे महत्वपूर्ण टॉपिक असमानता है। इस विशेष टॉपिक पर अपेक्षित सवालों की संख्या 5 होती है। यह रीज़निंग में सबसे आसान टॉपिक में से एक है। आपके पास दिए गए मात्रा की तुलना करनी है। दिए गए समीकरण के बाद स्टेटमेंट दिए जाएंगे। आपको पता होना चाहिए कि कौन-सी स्टेटमेंट सही है।

कोडिंग-डिकोडिंग

कोडिंग-डिकोडिंग पर प्रश्नों की अपेक्षित संख्या 5 होती है। यह विषय भी आसान टॉपिक की श्रेणी के अंतर्गत आता है। प्रश्न पुराने और साथ ही नए पैटर्न की कोडिंग-डीकोडिंग पर आधारित हो सकते हैं।

डेटा दक्षता

प्रश्नों की कठिनाई स्तर पर आधारित, डेटा पर्याप्तता के आधार पर प्रश्नों में 2 या 3 स्टेटमेंट हो सकते हैं। अगर पूछा गया तो इस टॉपिक पर कुल 3-5 प्रश्न होंगे। डेटा दक्षता भी एक महत्वपूर्ण टॉपिक है, जो आपको रीज़निंग सेक्शन में कम से कम 3 से 5 अंक दिला सकता है।  

खून का रिश्ता

इस खंड में पूछे गए प्रश्न, छात्र की संज्ञानात्मक क्षमता का परीक्षण करते हैं। पूछे सवाल बहुत जटिल हो सकते हैं, लेकिन आसानी से सुलझाया जा सकता है यदि आपके पास इस टॉपिक की कांसेप्ट है। इसे विभिन्न रूपों में पूछा जा सकता है, अर्थात् पहेली, मिश्रित रक्त संबंध, कोडित रक्त संबंध इत्यादि।

आदेश और रैंकिंग

इस विषय पर पूछा गया प्रश्न अपेक्षाकृत आसान और कम जटिल है। एक बार जब आप इस विषय पर प्रश्न सुलझाना सिख जाते हैं, तो वे आसान हो जाएँगे। आपको सिर्फ नियमित आधार पर प्रश्नों का अभ्यास करने की ज़रूरत है।

तार्किक विचार

इस विषय पर अपेक्षित प्रश्नों की संख्या 5-6 है। इस खंड में दिए गए सवाल कारण और प्रभाव, कार्रवाई, धारणाओं और निष्कर्षों, तर्कों की ताकत, निष्कर्ष इत्यादि पर आधारित होते हैं। प्रश्नों का स्तर हमेशा सामान्य रहा है।

हमारे विचार रीजनिंग से जुड़े

हमारे अनुभव के अनुसार, रीजनिंग में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए कांसेप्ट को पहले ठीक तरीके से जानना होगा। उसके बाद, आपको ज्यादा से ज्यादा प्रश्नों के अभ्यास करने होंगे। रीजनिंग में जो फैक्टर सबसे महत्त्वपूर्ण होता है, वह है समय को ठीक तरीके से मैनेज करना। बच्चों को रीजनिंग करने में काफी समय लग जाते हैं। इसके लिए उन्हें पहले उन टॉपिक को करना चाहिए जो थोड़े सरल हों। कठिन टॉपिक को पहले हल करने का कभी निर्णय ना लें।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *