rahul gandhi

राहुल गांधी के अमेठी दौरे पर विरोध प्रदर्शन, कांग्रेस ने भाजपा पर आरोप लगाया

Spread the love

rahul gandhi

rahul gandhi

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी का लोगों ने अमेठी में जमकर विरोध किया। विरोध के दौरान लोगों ने उनपर कई आरोप भी लगाये। हालांकि, कांग्रेस के नेता इस बात से इंकार कर रहे हैं। कांग्रेस नेताओं का यह दावा है की, विरोध करने वाले बीजेपी के आदमी थे।

कांग्रेस मुर्दाबाद के लगे नारे

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी दौरे के दूसरे दिन, कई जगहों पर जमकर विरोध प्रदर्शन हुआ। गौरीगंज और अमेठी के इलाकों में प्रदर्शनकारियों ने, राहुल गाँधी मुर्दाबाद और राहुल गांधी वपस जाओ जैसे नारे लगाए। लोगों ने उन्हें चोर भी कहा और आरोप लगाया कि, किसानों से जुड़ी जमीन उस ट्रस्ट द्वारा ली गई थी जिसके साथ राहुल गाँधी जुड़े थे।

राहुल गाँधी ने जन संपर्क जारी रखा

विरोध प्रदर्शनों के बीच, राहुल ने अपनी जन संपर्क जारी रखा। प्रदर्शनकारियों और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच झड़पों की उम्मीद में, विभिन्न स्थानों पर बड़ी संख्या में पुलिस कर्मियों को तैनात किया किया गया। कांग्रेस नेता अखिलेश प्रताप सिंह ने कहा, ये विरोध स्पष्ट रूप से भाजपा और सरकार द्वारा प्रायोजित हैं।

कांग्रेस ने कहा लोग बाहरी थे

कांग्रेस ने कहा, प्रदर्शनकारियों के बीच बहुत से लोग बाहरी व्यक्ति थे। इसके अलावा, सभी विरोध प्रदर्शनों पर लगे तख्ते बिल्कुल समान थे। हर जगह पर 10-15 प्रदर्शनकारियों को कम से कम 30 पुलिसकर्मियों द्वारा संरक्षित किया गया था, जैसे उन्हें नेता की जगह सुरक्षा दी गई है। यह सभी आरोप कांग्रेस नेताओं द्वारा लगाये गए।

विस्तार से जानें मामला 

किसानों का यह आरोप है की राजीव गाँधी फाउंडेशन के नाम पर जो जमीनें उनसे ली गयी थी, वह उन्हें वापस आज तक नहीं मिली। साथ ही किसानों ने यह भी कहा की अगर उन्हें जमीनें नहीं मिली, तो वह विरोध प्रदर्शन कभी ख़त्म नहीं करेंगे किसानों ने अपने लिए नौकरी की भी मांग की किसानों ने कहा की ज़मीन के बदले, कम से कम उन्हें रोज़गार अवश्य दिया जाए राहुल गाँधी को प्रदर्शनकारियों द्वारा लापता सांसद करार दिया गया राहुल गाँधी अपने पिता की मूर्ति को माला भी नहीं पहना सके राजेश मसाला नाम का एक कारोबारी विशेष रूप से प्रदर्शन में शामिल था योगी आदित्य ने कुछ दिनों पहले ही इस मुद्दे पर बात की थी योगी ने कहा था की, पुत्र और दामाद को ज़मीन हड़पने नहीं दिया जाएगा योगी के साथ भाजपा के दो अन्य बड़े नेता अमिता शाह और स्मृति इरानी भी शामिल थे राहुल गाँधी के खिलाफ सैकड़ों लोग विरोध में शामिल थे किसानों ने सम्राट साईकिल फैक्ट्री के सामने विरोध प्रदर्शन किए किसानों ने राहुल गाँधी शर्म करो का नारा भी लगाया उन्होंने राहुल गाँधी के पुतले जलाए लोगों का कहना है की राहुल गाँधी ने, सम्राट साईकिल की ज़मीनें धोके से ली हैं अमेठी के गौरीगंज तहसील में ये सभी घटनाएँ हुई इस तहसील के कौहार गाँव में सम्राट साइकिल की ज़मीनें यूपीएसआईडीसी से अधिकृत जो बंद पड़ी है, को वापस करने की मांग की गई। किसानों द्वारा ऐसे आरोप लगाने पर, अब देखना है की राहुल गाँधी क्या प्रतिक्रिया व्यक्त करते हैं। किसानों द्वारा मांगी जा रही ज़मीनों को राहुल गाँधी वापस करते हैं नहीं, ये तो आने वाला समय ही बताएगा।

हमारे वेबसाइट को विजिट करने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद हम आपके दुबारा विजिट करने की आशा करते हैं

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *