Prime minister modi with crown prince

अबू धाबी के ओपेरा हाउस में मोदी ने दिया भाषण, दुबई में पहली मंदिर का शिलान्यास

Spread the love
Prime minister modi with crown prince

Prime minister modi with crown prince

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने, विडीओ कॉन्फ़्रेन्स के माध्यम से आज दुबई स्थित ओपेरा हाउस में मंदिर का शिलान्यास किया। आपकी जानकारी के लिए बता दें की, दुबई में अभी तक कोई मंदिर नहीं था।

यह एक बहुत ही सराहनीय क़दम है। भारत और दुबई के रिश्ते कितने बेहतर हैं, इस बात से अन्दाज़ लगाया जा सकता है। भारतीय प्रधानमंत्री ने मंदिर बनाने के लिए क्राउन प्रिन्स को धन्यवाद दिया, करोड़ों भारतवासियों की तरफ़ से। प्रधानमंत्री ने वहाँ के भारतीय लोगों को सम्बोधित भी किया। उन्होंने भारतीयों की बड़ी भुमिका बतायी खाड़ी देशों के विकास में।

भारतीयों को सम्बोधित करने के दौरान पीएम ने जीएसटी और नोटबंदी का ज़िक्र किया। भारत के प्रति सभी देशों के बदलते नज़रिए को भी मोदी ने बताया। इस दौरान मोदी-मोदी के जमकर नारे लगे। सभी मौजूद भारतीय पूरे जोश के साथ ‘भारत माता की जय’ का नारा लगाते दिखे। उन्होंने बताया कि खाड़ी देशों के विकास में 30 लाख से ज़्यादा भारतीयों का योगदान है। पीएम ने कहा की, भारत और दुबई का रिश्ता केवल व्यापार मात्र का नहीं है। दुबई और भारत के रिश्ते आपसी सहयोग के लिए भी हैं। अबू धाबी मंदिर के काफ़ी भव्य और विशाल होने की बात भी पीएम ने कही।मंदिर का निर्माण, सेतु के रूप में दुबई में होने की बात भी कही।

मोदी द्वारा कही गयी प्रमुख बातें

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा की देश ने पहले काफ़ी निराशा के दिन देखें हैं, लेकिन अब लोगों को भरोसा है की यदि कुछ अच्छा होना है तो अभी ही होगा। बीती 4 वर्षों में, मोदी ने देश में आत्मविश्वास बढ़ने की बात कही। उन्होंने कहा कि, देश आज बुलंदियों के शिखर को छू रहा है। वर्ल्ड में भारत की रैंकिंग में काफ़ी ज़्यादा उछाल हुआ है। 2014 में भारत की रैंकिंग 142 थी, लेकिन अब 100 है। उन्होंने कहा कि, पहले भारत की रैंकिंग को पीछे से खोजे जाते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं है। उन्होंने कहा कि ये तो बस अभी शुरुआत है, देश को अभी कहीं और आगे ले जाना है। इसके लिए जो भी क़दम उठाने होंगे, वह ज़रूर उठाएँगे। पूरा विश्व कह रहा है की इक्कीसवीं सदी हिंदुस्तान की है। साठ वर्षों से फँसा हुआ जीएसटी अब जाकर पास हुआ। नोटबंदी में ग़रीबों को फ़ायदा हुआ, ये अलग बात है की कुछ पैसेवालों की नींद अब तक उड़ी हुई है। किसी भी बड़े बदलाव में कठिनाई आने की बात मोदी ने कही। देश को ऐसे क़दम उठाने कि ज़रूरत नहीं, जो लोगों को अच्छे लगते हों। देश को ऐसे क़दम उठाने की आवश्यकता है, जिससे लोगों का विकास हो। साथ ही उन्होंने भारत को आगे बढ़ाने के लिए विश्वास दिलाया।

गुजराती गीत से स्वागत 

प्रधानमंत्री मोदी के सम्बोधन शुरू करने से पूर्व, उनका गुजराती गीत से अभिनंदन किया गया। सुचेता नाम की भारतीय लड़की ने यह गीत गायी। सुचेता का नाम विश्व में गिनीज़ बुक में दर्ज है। वह 107 भाषाओं में निपुण है। उसने अन्य भारतीय गीतों को भी गाया। प्रधानमंत्री मोदी ने वार मेमोरीयल जाकर शहीदों को श्रधांजलि दी। अबू धाबी का यह पहला मंदिर 2020 तक तैयार हो जाएगी। मंदिर में भगवान श्री कृष्ण, शिव और अयप्पा की मूर्तियाँ होंगी। भगवान अयप्पा की दक्षिणी भारत के इलाक़ों में पूजा जाता है। इन्हें परम पूज्य भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है। मंदिर बनाने की बात बीआर शेट्टी ने छेड़ी थी। वह अबू धाबी के मशहूर कारोबारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *