114 students expelled in 12th bihar board exam

बिहार बोर्ड : बारहवीं की परीक्षा के पहले दिन 114 छात्र निष्कासित

Spread the love
114 students expelled in 12th bihar board exam

114 students expelled in 12th bihar board exam

बिहार में आज से बारहवीं की परीक्षा शुरू हो गयी है। यह परीक्षा बीएसईबी द्वारा हर साल आयोजित की जाती है। तेरह सौ चौरासी केन्द्रों पर यह परीक्षा आयोजित की गयी। करीबन एक सौ चौदह बच्चों को परीक्षा के दौरान निष्कासित किया गया। इसमें कुछ लडकियां भी शामिल थी।

बीएसईबी द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, निष्कासित छात्रों को बाकी परीक्षा देने से रोक दिया गया है। यह आंकड़ा सारण जिले में पंद्रह, जो की सबसे अधिक था। इसके बाद गया में चौदह, नवादा और सिवान में दस। औरंगाबाद में 8, अरवाल में सात। वैशाली, मुंगेर, नालंदा और समस्तीपुर में चार-चार। जहानाबाद, मधुबनी, शेखखपुरा और मधेपुरा में तीन-तीन। भागलपुर, जमूई और सुपौल में दो-दो। पटना, केमूर, सहरसा और भोजपुर में एक-एक रही।

बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि, सोनू कुमार अपने भतीजे की जगह बेगुसराई जिले में परीक्षा दे रहे थे। अचानक जांच के दौरान उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। दूसरे कुछ छात्रों को सहरसा जिले से गिरफ्तार किया गया था, जिनके विवरण की प्रतीक्षा है। वैशाली जिले के केंद्रों में से किसी एक में परीक्षा शुल्क मानकों के उल्लंघन के लिए एक एफआईआर दर्ज किया गया है। अधिकारी ने कहा, अभी तक एफआईआर का विवरण प्राप्त नहीं हुआ है।

बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने कहा कि स्वतंत्र और निष्पक्ष परीक्षा सुनिश्चित करने के लिए, उनहोंने जेडी महिला कॉलेज, बैंकपुर गर्ल्स की उच्च विद्यालय, अनुग्रह नारायण कॉलेज और पटना जिले के पांच मॉडल स्कूलों में व्यक्तिगत रूप से केंद्रों की गतिविधियों का निरीक्षण किया। एक स्रोत ने कहा कि बोर्ड के अध्यक्ष ने ना केवल केंद्रों का दौरा किया, बल्कि व्यक्तिगत रूप से कुछ जांचकर्ताओं को शख्त आदेश भी दिए। पटना जिला मजिस्ट्रेट कुमार रवि ने भी कुछ केंद्रों का दौरा किया, और छात्रों को चेक किया ताकि कोई भी अवांछित सामग्री के साथ परीक्षा कक्ष में प्रवेश ना कर सके।

बोर्ड के एक अधिकारी ने कहा कि, मंगलवार को जीव विज्ञान प्रश्न पत्र लीक होने की काफी अफवाहों के बीच, राज्य भर में परीक्षा शांतिपूर्ण रही। कुल मिलाकर तीन लाख सैतालिस हज़ार छात्रों ने जीव विज्ञान के लिए आवेदन किया। करीबन चालीस हजार छात्रों ने पहली बार हुए इंटरप्रेनूरशिप पत्र के लिए आवेदन किया, जो नौ बजकर पैतालीस मिनट से शुरू हुआ। दस हजार छह सौ दस छात्र फिलोसोफी के लिए उपस्थित हुए। व्यावसायिक पत्र (हिंदी) के लिए आठ सौ उनतीस छात्र बैठे, जिसकी परीक्षा एक बजकर पैतालीस मिनट से बजे शुरू हुई। बुधवार को बोर्ड, भाषा की विषय की परीक्षा पहली बैठक में आयोजित करेगी। दूसरी बैठक में, कंप्यूटर विज्ञान, मल्टीमीडिया और वेब प्रौद्योगिकी और फाउंडेशन कोर्स की परीक्षाएं होंगी।

बिहार बोर्ड की परीक्षाओं का रिकॉर्ड काफी ख़राब रहा है। इन परीक्षाओं में बड़े लेवल पर धांधली होने की ख़बरें आती रही हैं। इस बार की बात करें तो, हालात पहले से कुछ ठीक नजर आ रहे। इस बार बायोलॉजी के पेपर लीक होने की खबर दुखद जरुर थी। अब बाकी के परीक्षाओं में कैसी स्थिति रहती है, यह देखना अभी शेष है। उम्मीद की जा रही है बोर्ड द्वारा की उन परीक्षाओं में भी, बोर्ड शख्ती से पेश आएगी।

हमारे वेबसाइट पेज को विजिट करने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद। हम आपके पुनः आगमन की कामना करते हैं। ईमेल द्वारा न्यूज़ को पाने के लिए, हमें सब्सक्राइब करना ना भूलें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *